प्याज एक कंद है, जो शल्कों यानी छिलकों के आवरण में रहता है. इसमें एक खास तीखा गंध और स्वाद होता है, जिसका कारण है, इसमें एक वाष्पशील तेल ‘एलाइल प्रोपाइल डाय सल्फाइड’ का पाया जाना.

इस शल्ककंदीय सब्जी में भरपूर मात्रा में गंधक (Sulphur), लोहा (Iron), कैल्शियम (Calcium) और तथा विटामिन ‘सी’ (Vitamin C) पाया जाता है. आयुर्वेद की अनेक पुस्तकों में प्याज को बलवर्धक, कामोत्तेजना को बढ़ाने वाला, भूख बढ़ाने वाला (क्षुधावर्धक) तथा स्त्रियों में रक्त की वृद्धि करने वाला बताया गया है.

प्याज पित्तरोग, शरीर के दर्द, फोड़ा, खूनी बवासीर, तिल्ली रोग, रतौंधी, नेत्रदाह, मलेरिया, कान के दर्द, बालों की समस्या आदि के इलाज में अति-लाभकारी  पाया गया है. इस प्रकार यह एक सब्जी और मसाला ही नहीं बल्कि आयुर्वेद की औषधि भी है. सदियों से प्याज के रस का उपयोग अनेक रोगों में घरेलू नुस्खे के रूप में किया जाता है.

इस प्रकार से बनाएं प्याज का रस

यूं तो प्याज के सेवन के कई तरीके हैं. लेकिन, इस आर्टिकल में हम केवल प्याज के रस के फायदों के बारे में जानेंगे. लेकिन उससे पहले हम ये जान लें कि प्याज का किस प्रकार तैयार करना चाहिए:

  • सबसे प्याज को सिलबट्टे पर या मिक्सी में पीस लें.
  • अब एक मुलायम कपड़े, जैसे- मलमल या मारकीन या फिर धोती के टुकड़े या पतले रुमाल पर पिसे हए प्याज को निकाल लें.
  • फिर पिसे हुए प्याज को कपड़े से निचोड़ते हुए उसका सारा रस एक दूसरी कटोरी में निचोड़ लें.

1

जोड़ों के दर्द में लाभकारी है प्याज का रस

आयुर्वेद के विशेषज्ञों के अनुसार, जिन्हें शरीर के जोड़ों में दर्द रहता है. उन्हें प्याज के रस में सरसों तेल को मिलाकर तकरीबन 6 से लेकर 8 हफ़्तों तक लगातार अपने जोड़ो पर अच्छे से मालिश करनी चाहिए. ज़्यादातर 45 या 50 से ज़्यादा की उम्र के लोगों में यह समस्या देखने को ज़्यादा मिलती है, जिनके लिए जोड़ों के दर्द में प्याज एक असरदार दवाई के रूप में काम कर सकती है.

2

झड़ते बालों की समस्या कम करता है प्याज का रस

प्याज में सल्फर यानी गंधक भरपूर मात्रा में होता है. साथ ही प्याज में सेलेनियम नामक तत्त्व और एंटी-बैक्टेरियल और एंटी-फंगल गुण भी होते हैं. इन कारणों से प्याज झड़ते बालों की समस्या को कम करने के लिए बहुत लाभकारी है. प्याज के रस में जैतून का तेल मिलाकर सिर की मालिश करने से सिर का ब्लड-सर्कुलेशन बढ़ता है और स्काल्प की त्वचा की कोशिकाएं जाग्रत हो जाती है. यह उपाय आपके झड़ते बालों की समस्या को कम करने में सहायता करता है. साथ ही यह बालों को मोटा और चमकदार बनाता है.

3

बाल को असमय सफेद होने से रोकता है प्याज का रस

onion juice is helpful for hairs

यदि आपके बाल समय से पहले ही सफेद होने लगे हैं, तो आपको प्याज के रस में कलौंजी का तेल मिलाकर अच्छे से मालिश करनानी चाहिए. एक-डेढ़ घंटे के बाद बाल को किसी अच्छे शैम्पू से धो लेना चाहिए. और अधिक फायदा के लिए इसका मालिश सोने से पहले करना चाहिए और अगली सुबह बाल में शैम्पू करना चाहिए. यह उपाय डैंड्रफ (रुसी) की समस्या से निजात दिलाने में काफी कारगर है.

4

चमकदार त्वचा के लिए प्याज का रस

प्याज में सल्फर के साथ-साथ विटामिन-सी भी भरपूर मात्रा में होता है. साथ ही इसमें एंटी-ऑक्सीडेंट गुण भी पाया जाता है. इन गुणों के कारण यह त्वचा के लिए बहुत फायदे मंद है. केवल चेहरा ही नहीं बल्कि शरीर में कहीं भी कालापन और धब्बा हो, तो उसे दूर करने के लिए प्याज के रस में थोड़ा दही, नींबू का रस और शहद मिलाकर उस जगह पर लगाना चाहिए. 15-20 मिनट बाद (यानी सूखने तक) इसे धो लेना चाहिए. त्वचा का कालापन और धब्बा दूर हो जाएगा.

यह प्रक्रिया दो-तीन हफ्तों तक करनी चाहिए. और यह उपाय पिंपल्स यानी मुंहासों की समस्या से भी निजात दिलाता है. यदि चहरे पर रिंकल्स (झुर्रियाँ) बन रही हो, तो उस समस्या से भी छुटकारा पाने में यह उपाय काफी फायदेमंद है.

5

कान के दर्द में लाभकारी है प्याज का रस

जिन व्यक्तियों के कान में दर्द रहता है, उन्हें एक चम्मच में प्याज का रस लेकर थोड़ा गर्म (सुसुम गर्म/ल्यूकवार्म) कर के उसकी दो-तीन बूँदें कान में लेनी चाहिए. जाहिर है इससे लाभ होता है, तभी तो यह उपाय सदियों से हमारे घरों में दादी और नानी घरेलू नुस्खे के रूप में करती आयीं हैं. इस कान में होने वाले सनसनाहट भी दूर हो जाती हैं.

6

कीड़े के काटने की पीड़ा और सूजन को कम करता है प्याज का रस

मधुमक्खी और बर्र या अन्य किसी भी प्रकार के कीड़े के काटने की पीड़ा और सूजन को कम करने में प्याज का रस काफी लाभकारी है. यदि रस निकालने का जुगाड़ न हो तो सीधे प्याज के टुकड़े को भी रगड़ा जा सकता है. यह नुस्खा भी सदियों से हमारी दादी और नानी हमें देती आयीं हैं. कीड़े काटने की जगह पर प्याज के रस को हलकी मालिश के साथ लगाना चाहिए. बिच्छू के डंक मारने पर उस स्थान पर प्याज का पेस्ट लगाने से आराम मिलता है.

ये तो हैं समस्या-विशेष के लिए प्याज के रस का इस्तेमाल और उनसे निजात पाने के तरीके. लेकिन प्याज के रस फायदे इससे कहीं बहुत अधिक हैं. भोजन में सलाद के तौर कच्चे प्याज के सेवन से डायबिटीज (मधुमेह) का स्तर कम होता है. चूंकि यह एक रेशेदार कंद है, तो कब्ज की समस्या से भी निजात दिलाता है.