गर्मियों के मौसम में सभी लोगों को कुछ ऐसा खाने का मन करता है. जो उन्हें तरोताजा महसूस करा दे. ऐसे में मौसमी फल खाना निस्संदेह सबसे अच्छा विकल्प है. गर्मी के दिनों में उपजने वाले फलों में 80 से 90 फीसदी तक पानी होता है. उनमें विटामिन, मिनरल्स, फाइबर, एंटी-ऑक्सीडेंट प्रचुर मात्रा में होता है. साथ ही, इनमें फैट्स यानी वसा की मात्रा नहीं के बराबर होती है. तो आइए जानते हैं ठंडी तासीर वालों उन फलों के बारे में जिन्हें खाना गर्मी के दिनों में फायदेमंद रहता है.

1. तरबूज

तरबूज की तासीर ठंडी होती है. यह पानी और इलेक्ट्रोलाइट से भरपूर होता है. यह डिहाइड्रेशन से बचाता है. इसमें बहुत कम कैलोरी होती है. हमारी पाचन प्रक्रिया और किडनी के लिए भी यह एक अच्छा फल है. तरबूज में लाइकोपीन बहुत ज़्यादा होता है, जो सूर्य की किरणों से त्वचा की रक्षा करता है. यही नहीं, यह गर्मी से लड़ने में भी हमारी मदद करता है. इसमें विटामिन-ए और विटामिन-सी की काफी मात्रा होती है, जो कि शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनाती है. इसके साथ ही, यह शरीर को डि-टॉक्स करने में मदद करता है, लेकिन खाने से दो-तीन घंटे पहले और बाद में तरबूज खाने से परहेज करना चाहिए.

2. आलूबुखारा

आलूबुखारा कई गुणों की खान है. इसकी तासीर भी काफी ठंडी होती है. यह विटामिन-सी और विटामिन-ए से भरपूर होता है. इसमें मौजूद फाइबर प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करने में मदद करते हैं. यह फल आंखों के लिए भी अच्छा होता है. गर्मियों में अनेक लोगों को नकसीर फूटने यानी नाक से खून आने की समस्या हो जाती है. ऐसे लोग यदि रोज एक आलूबुखारा खाएं तो वे इस समस्या से निजात पा सकते हैं. आलूबुखारे में ऑक्जेलिक एसिड होता है, इसलिए जिन लोगों को पथरी कि शिकायत हो, उन्हें आलूबुखारा नहीं खाना चाहिए.

3. खीरा

benefits-of-cucumber-for-summers

गर्मियों में खीरा खाने से शरीर में पानी की कमी को तुरंत दूर हो जाती है.

खीरा को विटामिन, मिनरल्स और इलेक्ट्रोलाइट्स का पावरहाउस कहा जाता है. इसकी तासीर भी ठंडी होने के कारण गर्मियों में इसका खूब सेवन करना चाहिए. खीरा में 95 फीसदी पानी होता है, इसलिए इसे खाने से शरीर को आवश्यक पानी की पूर्ति हो जाती है. इसको खाने से मेटाबॉलिज्म भी मजबूत होता है. वजन कम करने के लिए खीरा बहुत अच्छा विकल्प है. कई रिसर्च में ये सामने आया है कि रोजाना खीरा खाने से कैंसर का खतरा कम होता है, साथ ही यह शरीर में ट्यूमर के विकास को भी रोकता है. खीरा खाने से इम्यूनिटी भी बहुत मजबूत होती है, क्योंकि इसमें विटामिन-सी, बीटा कैरोटीन जैसे एंटी-ऑक्सीडेंट्स पाए जाते हैं. जिससे शरीर में मौजूद फ्री-रेडिकल्स दूर होते हैं और इम्यूनिटी पॉवर बढ़ती है. खीरा को छिलका समेत खाने से हड्डियों को फायदा होता है, क्योंकि खीरा के छिलके में सिलिका पायी जाती है.

4. जामुन

जामुन सिर्फ एक फल ही नहीं एक बहुत ही महत्वपूर्ण आयुर्वेदिक औषधि है. तेज धूप और भीषण गर्मी में लू लग जाने पर उसे दूर करने में जामुन काफ़ी मदद करता है. इसमें विटामिन बी और आयरन पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है, जो न केवल नसों में खून के प्रवाह को ठीक रखता है बल्कि शरीर में खून की कमी को दूर करता है. इसको खाने से कैंसर, मुँह के छाले आदि रोगों से छुटकारा मिलता है. आयुर्वेद के अनुसार, रोगमुक्त रहने के लिए जामुन को नमक मिला कर खाना चाहिए.

5. नार

गर्मियों की शुरुआत के साथ ही यह जरूरी हो जाता है कि हम अपनी स्किन की कुछ ज्यादा केयर करें. गर्मियों में हमारी स्किन के सामने सबसे आम समस्या सन डैमेज की यानी त्वचा के जल जाने और टैनिंग की प्रॉब्लम. ऐसे में अनार इससे निपटने में मदद करता है. यह फल फाइबर के साथ-साथ विटामिन-सी, विटामिन-के और विटामिन-बी का बहुत अच्छा स्रोत है. इसमें लोहा, मैग्नीशियम, फास्फोरस, पोटेशियम, फोलेट, मैंगनीज, सेलेनियम, ज़िंक जैसे और भी अन्य पोषक तत्व अच्छी मात्रा में होते हैं. यह फल ओमेगा-6 फैटी एसिड का भी एक अच्छा स्रोत है. अनार गर्मियों में पाचन शक्ति को बेहतर करता है.

6. अनानास

अनानास केवल खट्टे-मीठे स्वाद का खजाना ही नहीं है, बल्कि एंटीऑक्सिडेंट, फाइबर, विटामिन-ए और विटामिन-सी के साथ-साथ थायमिन, कैल्शियम, पोटेशियम, फास्फोरस, मैंगनीज के साथ-साथ फोलेट से भी भरपूर होता है. गर्मियों में इस फल का जूस पीने से तुरंत ही गजब की एनर्जी मिलती है. इस सीजन में अक्सर पाचन की प्रक्रिया मंद हो जाती है. अनानास पाचन शक्ति को उत्तेजित तो करता ही है, साथ ही में यह पेट और आंत की अंदरूनी सतह को भी शांत रखता है. अनानास एक प्राकृतिक रेचक है, जो कब्ज की समस्या होने ही नहीं देता है. गर्मियों में होने वाली मॉर्निंग सिकनेस, मितली और उलटी कम करने लिए अनानास को काफी फायदेमंद माना गया है.

7. अमरूद

benefits-of-guava-in-summers

गर्मियों में अमरूद पेट की जलन को शांत करता है.

अमरूद एक ऐसा फल है, जो गर्मियों में भी खाया जाता है और सर्दियों में भी. गर्मियों में जहाँ इसकी तासीर ठंडी होती है, वहीं सर्दियों में इसकी तासीर गर्म होती है. प्रोटीन, विटामिन, मिनरल्स और फाइबर का बेहतरीन स्रोत है अमरूद. गर्मियों में सफ़ेद और लाल दोनों तरह के अमरूद होते हैं. लाल अमरूद में लाइकोपिन पाया जाता है, जो स्किन के लिए बहुत फायदेमंद है. इस सीजन में कई बार कुछ गलत खा लेने से या बहुत अधिक तेल मसाले की चीजें खाने से पेट में जलन और अपच की समस्या हो जाती है. ऐसे में अधिक पका हुआ या घुला हुआ अमरूद पेट की जलन और अपच को दूर करने में कारगर साबित होता है.

8. संतरा

संतरा केवल विटामिन-सी के लिए ही नहीं बल्कि विटामिन-ए, विटामिन-बी और कैल्शियम, मैग्नीशियम, पोटेशियम, फास्फोरस से भी भरपूर होता है. साथ ही, इस फल में 170 से ज्यादा फाइटोकेमिकल्स और 60 से ज्यादा फ्लेवोनोइड्स होते हैं. गर्मियों में शरीर बहुत सारे रोगों से आसानी से ग्रस्त हो जाता है. इस मौसम में संतरा का नियमित सेवन न केवल पोषण देता है, बल्कि इम्यून सिस्टम को मजबूत करता है. इस फल में मौजूद उच्च विटामिन-सी एक माँ की तरह शरीर की रक्षा करता है. गर्मियों में इस फल का जूस पीने से तुरंत ही गजब की ऊर्जा मिलती है.

9. कच्चा आम

benefits-of-green-mango

गर्मियों में आम की चटनी का सेवन काफी फायदेमंद होता है.

गर्मियों में कच्चा आम खाने का सबसे बड़ा फायदा तो हम सभी जानते ही हैं, कि यह शरीर में पानी की मात्रा को मेंटेन रखता है और डिहाइड्रेशन से बचाता है. इस सीजन में इसे चाहे कच्चा खाएं या चटनी की रूप में या फिर इसका आम पन्ना बनाकर पीएं, हर रूप में यह फल तेज धूप और भीषण गर्मी में लू के असर से रक्षा करता है. इसके अलावा कच्चा आम लीवर को डिटॉक्सीफाई यानी साफ भी करता है. इसके साथ ही यदि कम मात्रा में कच्चे आम का नियमित सेवन किया जाए, तो यह कब्ज, आँत की सूजन, अपच, डायरिया जैसे पेट के विकारों को दूर करता है. गर्मियों में कच्चे आम का सेवन शरीर में सोडियम क्लोराइड की कमी को भी दूर करता है और पित्त अम्ल के स्राव को बढ़ावा देता है. इस फल में मैग्नीशियम और पोटेशियम भरपूर मात्रा में होता है, जो हेल्दी हार्ट के लिए जरुरी है.

10. बेल

गर्मियों में बेल फल के सेवन के फायदे अनगिनत हैं. बेल वास्तव में एक जड़ी-बूटी है, प्रकृति का एक नायाब उपहार है. इसका प्रत्येक भाग शरीर के लिए लाभकारी है, चाहे वह इसका फल हो या पत्तियां, या फिर तना, शाखाएं या जड़. लेकिन गर्मियों में इस फल का सेवन अमृत के समान माना गया है. इसका शरबत न केवल तुरंत ताकत देता है, बल्कि इसका नियमित सेवन कभी कब्ज होने ही नहीं देता है. बेल के फल में टैनिन, कैल्शियम, फॉस्फोरस, फाइबर, प्रोटीन, आयरन आदि जैसे उपयोगी खनिज भरपूर मात्रा में होते हैं. इसके अलावा इसमें विटामिन-बी और विटामिन-सी की भी अच्छी मात्रा पाई जाती है.

11. सेब

benefits-of-eating-fruits-in-summers

लाल सेब में भरपूर एंथोसायनिन होता है, जो इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाता है.

‘इट एन एप्पल अ डे कीप्स द डॉक्टर अवे’ (Eat an apple a day keeps the doctor away), ये कहावत हर किसी ने न जाने कितनी बार सुना होगा. जी हाँ, क्योंकि सेब होता ही इतना गुणकारी है. इसे दुनिया का सबसे लोकप्रिय फल माना जाता है. सेब में विटामिन-सी, विटामिन-ए, फाइबर और विभिन्न एंटीऑक्सीडेंट में उच्च मात्रा में होते हैं. इस फल में मुख्य रूप से कार्बोहायड्रेट, पानी और विभिन्न प्रकार के शुगर जैसे फ्रुक्टोज, सुक्रोज और ग्लूकोज होता है, जिसका सेवन गर्मियों में विशेष राहत देता है. संपूर्ण शारीरिक पोषण विशेष कर स्वस्थ त्वचा और आँख के लिए सेब का सेवन उत्तम माना गया है. इसमें पाया जाने वाला फाइबर वजन कम करने में काफी हेल्पफुल होता है.

12. केला

सेब की तरह ही केला बारे में कहा जाता है कि इसके नियमित सेवन से डॉक्टर के पास जाने की जरुरत नहीं पड़ती है. केले में जो पोषक तत्व और यौगिक होते हैं, उनमें कार्बोहाइड्रेट, विटामिन-ए, विटामिन-सी और विटामिन-बी-6, लोहा, फास्फोरस, कैल्शियम, मैग्नीशियम, ज़िंक, सोडियम, पोटेशियम महत्त्वपूर्ण है. इसमें और प्राकृतिक शर्करा जैसे सुक्रोज़, फ्रक्टोज़ और ग्लूकोज़ काफी मात्रा में होता है. यही कारण है कि केला एक सूपरफूड है. गर्मियों इसको दैनिक आहार का एक अभिन्न हिस्सा बनाने से कई स्वास्थ्य समस्याओं और रोगों दूर रहा जा सकता है. वास्तव में केला प्राकृतिक ऊर्जा का एक लाजवाब स्रोत है. गर्मियों में लूज मोशन होने पर पूरी तरह से पके केले से सेवन से तुरंत आराम मिलता है.

13. पपीता

पपीता सालों भर मिलता है. हालाँकि इसकी तासीर गर्म होती है, लेकिन इसका सेवन पाचन शक्ति बढ़ाता है. इसका नियमित सेवन वज़न भी कम करता है. इसे रोजाना खाने से संक्रमण होने के जोखिम घट जाते हैं. गर्मियों में अक्सर तेज धूप के कारण आँखें लाल हो जाती हैं, ऐसे में पपीता का सेवन रेटिना पर दुष्प्रभाव नहीं होने देता है और आँखें स्वस्थ रहती हैं. पपीते के नियमित सेवन से पेट में आंत की समस्या हो या लीवर की, उससे छुटकारा पाया जा सकता है. आयुर्वेद के अनुसार इसकी पत्तियां, जड़, तना और बीज के सही उपयोग से शरीर के कई रोगों ठीक किया जा सकता है.

14. फालसा

falsa-is-summer-fruit

फालसा का शरबत शरीर को तुरंत ताजगी देता है और शरीर को अंदर से शीतलता देता है.

फालसा शरीर के लिए एक प्राकृतिक कूलिंग एजेंट के रूप में काम करता है. यही कारण है कि इसका सेवन गर्मियों में बहुत अधिक मात्रा में किया जाता है. औषधीय गुणों से भरपूर इस फल का शरबत इंस्टैंट एनर्जी देता है. जिन लोगों में खून की कमी होती हैं, उनके लिए फालसा एक रामबाण फल है. भले ही यह फल आकार में छोटा होता है, लेकिन गर्मियों में इसका सेवन शरीर में इलेक्ट्रोलाइट्स की कमी नहीं होने देता है. यह शरीर को अन्दर से शीतल रखता है.

15. खरबूजा

गर्मियों के सीजन में अनेक रसीले फलों में खरबूजा महत्त्वपूर्ण है. पानी से भरपूर इस फल का स्वाद हल्का मीठा होता है. यह केवल हाइड्रेटिंग ही नहीं होता है, बल्कि इसमें विटामिन-ए, विटामिन-बी6, फाइबर और फोलिक एसिड भी भरपूर मात्रा में होता है. यह ग्रीष्मकालीन फल वजन घटाने में काफी सहायक है. गर्मियों में तेज धूप और प्रदूषण के कारण शरीर में विटामिन का स्तर कम हो जाता है, खरबूजा में पाए जाने वाले विटामिन से फेफड़े स्वस्थ रहते हैं. यह फल दिमागी तनाव को भी कम करता है.